लाइव कोरोना वायरस न्यूज़ अपडेट इन हिंदी 28 मार्च 2020

लाइव कोरोना वायरस न्यूज़ अपडेट इन हिंदी 28 मार्च 2020

Read here latest News in Hindi On Corona Virus लाइव कोरोना वायरस न्यूज़ अपडेट इन हिंदी 28 मार्च 2020. You may share these coronavirus update in india today as coronavirus india live update news in hindi 28 Mar 2020.

coronavirus india live update news in hindi 28 Mar 2020

 

दुनियाभर में आज क्या कुछ हुआ है

  • ·पूरी दुनिया में संक्रमण के मामले 6 लाख हो गए हैं. जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के अनुसार, सिर्फ़ यूरोप में मौत का आंकड़ा 20,000 पार कर गया है.
  • ·ब्रिटेन में 260 और लोगों के मरने के बाद मौत का आंकड़ा 1,019 पहुंच गया है.
  • ·स्पेन में 24 घंटों में 832 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद वहां मौतों का कुल आंकड़ा 5,690 हो गया है. हालांकि वहां लोगों के ठीक होने का सिलसिला भी जारी है. 72,000 लोगों में से 12,285 लोग ठीक हो चुके हैं.
  • ·कोरोना वायरस का केंद्र रहा चीन का वुहान शहर दुनिया से दो महीने तक अलग-थलग रहने के बाद आज फिर से आंशिक रूप से खोल दिया गया.
  • ·दक्षिण कोरिया ने बताया है कि उसके यहां वायरस से संक्रमित होने से अधिक ठीक होने वाले लोगों की संख्या है.
  • ·अमरीका ने एक रेपिड टेस्टिंग किट्स को अनुमति दे दी जो सिर्फ़ पांच मिनट में कोरोना वायरस संक्रमण का पता लग सकती है.
  • ·भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद प्रवासी मज़दूरों का पैदल ही अपने घर लौटना जारी है. दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे पर शाम को मज़दूरों की भारी भीड़ जमा हो गई.

 

दिल्ली के आनंद विहार में प्रवासी मज़दूरों की भारी भीड़

दिल्ली के आनंद विहार में प्रवासी मज़दूरों की भारी भीड़

कोरोना वायरस के कारण घोषित किए गए 21 दिन के लॉकडाउन के बाद प्रवासी मज़दूरों का पैदल अपने घर जाना जारी है.

शनिवार को अपने घर लौटने की उम्मीद लगाए प्रवासी मज़दूरों की भारी भीड़ दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे और रेलवे स्टेशन के बाहर जमा हो गई.

यह भीड़ शनिवार को सुबह से आना जारी थी और शाम तक आनंद विहार की मुख्य सड़क पर काफ़ी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए.

 

दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे पर वापस लौट रहे लोगों की भारी भीड़

 

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बावजूद बहुत से लोग अपने घर वापस जाना चाह रहे हैं. इनमें बड़ी संख्या उन मजदूरों की है जो काम के लिए अपने घरों से बाहर रह रहे हैं.

दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे पर शनिवार को ऐसी ही भारी भीड़ देखने को मिली.

 

कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ भारत को ‘अहम हथियार’ देने वाली महिला

कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ भारत को 'अहम हथियार' देने वाली महिला

कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ लड़ाई में भारत की आलोचना अब तक कम लोगों की जांच के लिए हो रही है.

लेकिन अब उम्मीद की जा रही है कि इस स्थिति में बदलाव होगा. इस बदलाव की उम्मीद एक वायरोलॉजिस्ट की कोशिशों से जगी है.

इस महिला वायरोलॉजिस्ट ने अपने बच्चे को जन्म देने से महज़ कुछ घंटे पहले तक लगातार काम करके भारत का पहला वर्किंग टेस्ट किट तैयार किया है.

बीते गुरुवार को, भरत में निर्मित पहला कोरोना वायरस टेस्टिंग किट बाज़ार तक पहुंच गया है.

माना जा रहा है कि संदिग्धों के बढ़ते मामलों में अब इसके ज़रिए कोविड-19 के मरीज़ों की पुष्टि जल्द हो पाएगी.

 

नोएडा में एक ही दिन में कोरोना संक्रमण के 6 केस

नोएडा में एक ही दिन में कोरोना वायरस से संक्रमण के छह नए मामले आने से प्रशासन में हड़कंप मच गया.

पत्रकार समीरात्मज मिश्र ने बताया कि जिन छह लोगों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है उनमें एक 11 साल की बच्ची भी है जबकि अन्य पांच लोग एक ही कंपनी में काम करते हैं.

बताया जा रहा है कि बच्ची डेनमार्क से लौटे अपने चाचा के संपर्क में आकर संक्रमित हुई है.

जिलाधिकारी बीएन सिंह के आदेश पर इन लोगों से जुड़ी सोसायटी या सेक्टर्स को सील कर दिया गया है.

यह पहली बार है जब ज़िले में एक ही दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के छह मामले आए हों. इसके साथ ही अब नोएडा यानी गौतमबुद्धनगर ज़िले में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 23 हो गई है. सभी पीड़ितों का ज़िले के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

मज़दूरों की मदद के लिए सिविल सोसायटी की अपील

मज़दूरों की मदद के लिए सिविल सोसायटी की अपील

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से देश भर में मज़दूर मजबूर होकर अपने घर वापस लौट रहे हैं. देश भर के 200 से ज़्यादा बुद्धिजीवियों ने इन मज़दूरों के लिए मदद की अपील की है.

इनमें अर्थशास्त्री ज़्या द्रेज़, सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे और रक्षिता स्वामी जैसे कई नामी प्रोफ़ेसर, अर्थशास्त्री, सामाजिक कार्यकर्ता, वकील, राजनीतिक विश्लेषक आदि शामिल हैं.

इस अपील में उन प्रवासी मज़दूरों की तत्काल सहायता के लिए अपील की गई है जो लॉकडाउन के कारण घरों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं.

इसमें कहा गया है कि अपने घरों की ओर जा रहे मज़दूरों को कम से कम निःशुल्क भोजन, चिकित्सा देखभाल और स्वच्छता मुहैया कराई जाए.

अपील में कहा गया है, “24 मार्चकोकेवल 4 घंटे का समय देकर21 दिनों का लॉकडाउन लागू कर दिया गया जिसका भारी असर प्रवासी मज़दूरों पर पढ़ रहा है. पूरी तैयारी के बिनालिए गए फ़ैसले पर पहले दिशानिर्देश न होने के कारण हमारी श्रम शक्ति के 90% हिस्से पर इसके बुरे प्रभाव का आकलन सरकार ने शायद किया ही नहीं.”

इस अपील में आगे मांग की गई है कि सरकार तुरंत इस समस्या पर ध्यान देते हुए मज़दूरों के लिए भोजन केंद्रों की स्थापना करे, साथ ही साफ़-स्वच्छ बस और ट्रेन सेवाओं की व्यवस्था करे ताकि फंसे प्रवासी मज़दूरों को सुरक्षित घर पहुंचाया जा सके.

कोरोना वायरस: जब दिल्ली ने सैकड़ों ‘मजबूरों’ को जाते देखा

कोरोना वायरस: जब दिल्ली ने सैकड़ों 'मजबूरों' को जाते देखा

उत्तर भारत में मज़दूरी कर रहे, छोटे काम धंधे कर रहे तमाम बेघर लोग बीते कुछ दिनों से देश की राजधानी दिल्ली को पार कर रहे हैं.

इनमें हरियाणा के पानीपत, करनाल, अंबाला, राजस्थान के जयपुर, अजमेर, पंजाब के लुधियाना, जलंधर और चंडीगढ़ समेत कई अन्य शहरों से आये वो लोग हैं जो दिल्ली पार करके उत्तर प्रदेश के एटा, आगरा, मथुरा, रामपुर, बरेली, सीतापुर, हरदोई, अमरोहा और राजस्थान के अलवर, भरतपुर में अपने घर लौट रहे हैं.

‘अब से रोज़ाना 4 लाख लोगों को खाना खिला सकते हैं’

‘अब से रोज़ाना 4 लाख लोगों को खाना खिला सकते हैं’

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके बताया कि दिल्ली सरकार ने रोज़ाना 4 लाख लोगों को खाना खिलाने की क्षमता बना ली है, 500 स्कूलों और 238 रेन बसैरों में खाना बांटा जा रहा है.

उन्होंने बताया कि प्रशासन के उड़न दस्ते हर ज़िले में घूम रहे हैं और ज़रूरतमंदों को खाना दे रहे हैं, कल से बांटने की प्रक्रिया आराम से शुरू हो जाएगी और खाना हर कहीं पहुंचेगा.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने सभी विधायकों से कहा है कि वो सभी प्रवासी मज़दूरों से निवेदन करें की वो दिल्ली छोड़कर न जाएं, उनके लिए व्यवस्था की गई है.

कोरोना वायरस: किन अफ़वाहों से डरे हुए हैं महाराष्ट्र में ग्रामीण

कोरोना वायरस: किन अफ़वाहों से डरे हुए हैं महाराष्ट्र में ग्रामीण

महाराष्ट्र के कई गांवों में अफ़वाह फैल गई है जिसके डर से गांव के लोग पूरी पूरी रात सो नहीं पा रहे हैं.

एक तरफ जब भारत के कई प्रदेशों में लोग कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण से डरे हुए हैं तो दूसरी तरफ महाराष्ट्र के गांवों में लोग एक अजीब सी अफ़वाह से डरे हुए हैं.

यहां गांवों में अफ़वाह फैली है कि जो व्यक्ति रात को सोएगा को फिर कभी उठ नहीं पाएगा. गांववाले इस अफ़वाह के कारण डर में अपने दिन गुज़ार रहे हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने की पीएम-केयर्स फ़ंड की घोषणा

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ट्वीट करके पीएम-केयर्स फ़ंड की घोषणा की.

उन्होंने ट्वीट में बताया कि इसके ज़रिए कोई भी एक छोटी सी सहायता राशि दे सकता है जो आपदा प्रबंधन की क्षमताओं को मज़बूत करेगा और नागरिकों की सुरक्षा के लिए रिसर्च करने में मदद करेगा.

प्रधानमंत्री ने भारतीय नागरिकों से अपील की कि वो पीएम-केयर्स फंड में योगदान दें. उन्होंने कहा कि अगर आगे कोई संकट की स्थिति आती है तो इस राशि का उसमें भी इस्तेमाल होगा.

इस ट्वीट के बाद फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने ट्वीट किया कि यह वो समय है जब सभी लोगों की ज़िंदगियों का सवाल है इसलिए वो पीएम-केयर्स फ़ंड में 25 करोड़ रुपये का योगदान देंगे.

 

कोरोना से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट देगा 500 करोड़

कोरोना से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट देगा 500 करोड़

टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा ने भरोसा दिलाया है कि कोविड-19 से जूझ रहे भारत को वो 500 करोड़ रुपये की मदद करेंगे.

उनकी ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत और दुनिया में इस समय वर्तमान स्थिति चिंताजनक है और कोविड-19 से लड़ने के लिए तुरंत आपातकालीन सहायता की आवश्यकता है.

इसके बाद बयान मे कहा गया है कि टाटा ट्रस्ट सभी समुदायों को सशक्त और सुरक्षित करने की अपनी प्रतिज्ञा को दोहराता है और 500 करोड़ रुपये का वादा करता है.

यह 500 करोड़ रुपये फ़्रंटलाइन पर काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए चिकित्सा, रेस्पिरेटरी सिस्टम, टेस्टिंग किट्स आदि में इस्तेमाल किए जाएंगे.

 

देशभर में एक दिन में कोरोना के 149 नए मामले

देशभर में एक दिन में कोरोना के 149 नए मामले

कोविड-19 को लेकर शनिवार को की गई प्रेस कॉन्फ़्रेंस में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि आज एक दिन में कोरोना वायरस के 149 नए मामले सामने आए और दो मौतें हुईं.

इसके साथ ही देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या 873 हो चुकी है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 के मरीज़ों को कैसे संभालना है, इसकी ट्रेनिंग एम्स दिल्ली की सहायता से देशभर के डॉक्टरों को दी जा रही है.

इसके अलावा भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के एक अधिकारी ने बताया कि जिस भी मरीज़ को गंभीर रूप से सांस लेने में दिक़्क़त हो रही है उन सभी का कोरोना वायरस टेस्ट किया जा रहा है.

आईसीएमआर ने बताया कि 44 निजी लैब को कोविड-19 टेस्ट करने की अनुमति दे दी गई है.

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल का कहना था कि भारत सरकार ने देशभर के लिए 40,000 वेंटिलेटर्स का ऑर्डर दिया है.

 

कोरोना लॉकडाउन: किन ‘जुगाड़ों’ से बिहार पहुंच रहे हैं मज़दूर

कोरोना लॉकडाउन: किन 'जुगाड़ों' से बिहार पहुंच रहे हैं मज़दूर

“भूख से मरना है तो दिल्ली में क्यों मरें? यहां कुटुम्ब (परिवार) के पास मरेंगें.”

बीबीसी से फ़ोन पर बात करते हुए राजकुमार राम की कांपती हुई आवाज़ में उनके आंसू घुले हुए थे. राजकुमार राम, सहरसा के नवहट्टा प्रखंड की केचुली पंचायत के हैं.

वो दिल्ली की चांदनी चौक की इलेक्ट्रॉनिक दुकान में बीते कई सालों से मज़दूरी कर रहे हैं.

लेकिन कोरोना संकट में जब लॉकडाउन हुआ तो वो जुगाड़ गाड़ी (ऐसा ठेला जिसमें इंजन लगा रहता है) से वापस चले आए.

उन्हें सहरसा वापस आने में पांच दिन लग गए हैं, लेकिन अभी उन्हें अपने ही गांव के अंदर घुसने के लिए एक और लड़ाई लड़नी है.

 

कोरोना के केंद्र वुहान को आंशिक रूप से फिर खोला गया

कोरोना के केंद्र वुहान को आंशिक रूप से फिर खोला गया

चीन का वुहान शहर जहां से कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था, उसे दो महीने बाद आंशिक तौर पर फिर खोला जा रहा है.

शनिवार को वुहान ट्रेन स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ देखी गई.

रिपोर्ट के अनुसार, लोगों को आने की इजाज़त है लेकिन जाने की नहीं.

हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में कोरोना के 50,000 से अधिक मामले आए थे. हुबेई प्रांत में कोरोना से तकरीबन 3,000 लोगों की मौत हुई है.

चीन के आंकड़ों के अनुसार, कोरोना के मामलों में नाटकीय रूप से कमी आई है. शनिवार को कोरोना के 54 नए मामले सामने आए. कहा गया है कि यह सब मामले विदेश से लौट रहे लोगों के हैं.

विदेश से आ रहे कोरोना के मामलों पर लगाम लगाने के लिए चीन ने विदेशियों के अपने यहां आने पर प्रतिबंध लगा दिया है, चाहे उनके पास वीज़ा हो या रेज़िडेंट परमिट.

 

मनोरंजन की इस दुनिया के साथ साथ हम आपसे कुछ जर्नल नॉलेज इन हिंदी के प्रश्न भी पूछते है जिन्हें आप उत्तर के रूम में बता कर सामान्य अधिक बड़ा सकते है !

प्रशन-1: कोरोना वायरस से आज की डेट में कितने लोग पॉजिटिव हुए हैं?

प्रशन-2: कोरोना वायरस के कारण स्थगित पेपर कब तक होंगे कोई नई सुचना?

प्रशन-3: कोरोना वायरस से भारत देश में किसने कितना दान दिया?

प्रशन-4: कोरोना वायरस के कितने केस हैं अभी इंडिया में?

प्रशन-5: कोरोना वायरस की वजह से बरौली में कौन सी बस चेक हुई है?

प्रशन-6: कोरोना वायरस से बचने की कोई दवा है क्या?

प्रशन-7: क्या इस कोरोना वायरस को खत्म कैसे होगा?

प्रशन-8: इंदौर में कोरोना वायरस की जांच कहां पर हो रही है

प्रशन-9: चैत्र नवरात्र में कोरोना वायरस के कारण कनचक कैसे पुजे?

=============================================
Note : In Question Ka Anwer Aap Humhe Comment Box Me Jarur Bataye Hum aapke Reply Ka Wait Ker Rahe Hai…..thanks so much…all supporter Friends…

=============================================

जिन्हें इस प्रशन का उत्तर नहीं मालून

तो वो comment box में sorry टाइप कर दो ..!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *