ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे : Eastern Peripheral Expressway Current Status

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे : Eastern Peripheral Expressway Current Status

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे : Eastern Peripheral Expressway Current Status

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे : Eastern Peripheral Expressway Current Status
ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे : Eastern Peripheral Expressway Current Status

क्या वाकई दिल्ली से मेरठ अब सिर्फ 45 मिनट का है रास्ता? जानें सच्चाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया. यह इस एक्सप्रेस-वे का पहला फेज़ है जो कि 14 लेन का है. दावा किया जा रहा है कि अब दिल्ली से मेरठ का सफर सिर्फ 45 मिनट में पूरा हो जाएगा. हालांकि सच्चाई ये है कि इतने कम समय में ये दूरी तरह करने के लिए अभी कुछ साल इंतजार करना होगा.
दिल्ली से मेरठ जाने में इस समय करीब 1.30 से 2 घंटे का समय लगता है. करीब 90 किलोमीटर के इस दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के पूरे होने के बाद ये समय घटकर करीब 45 मिनट तक का हो जाएगा. लेकिन इस एक्सप्रेस वे का काम पूरा होने में काफी समय बाकी है. पीएम मोदी ने आज (रविवार) जिस रोड का उद्घाटन किया है वो इस एक्सप्रेस वे का पहला चरण है. अभी इसके तीन चरण बाकी हैं जिनपर काम चल रहा है.

90 किमी. के इस एक्सप्रेस-वे का अभी पहला ही फेज़ हुआ है. जो कि निजामुद्दीन ब्रिज से दिल्ली-यूपी बॉर्डर तक है. इसकी कुल लंबाई 8.71 किमी. है. सरकार की ओर से कहा जा रहा है कि इसे रिकॉर्ड 18 महीनों में पूरा किया गया है.
हालांकि, अभी भी इस एक्सप्रेस-वे के तीन फेज होने बाकी हैं. जो कि दिल्ली-यूपी बॉर्डर से डासना, डासना से हापुड़ और फिर हापुड़ से मेरठ के हैं. यानी अभी भी पूरा दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे बनने में करीब दो साल और लग सकते हैं उसके बाद ही दिल्ली से मेरठ का सफर 45 मिनट में होने की उम्मीद की जा सकती है.

कब पूरे होंगे चारों फेज?
फेज़ 1 – निजामुद्दीन ब्रिज से दिल्ली-यूपी बॉर्डर, 8.71 किमी. (काम पूरा, मई 2018) 14 लेन
फेज़ 2 – दिल्ली-यूपी बॉर्डर से डासना, 19.28 किमी. ( टारगेट – मई 2020) 14 लेन
फेज़ 3 – डासना से हापुड़, 22.27 किमी. (टारगेट – जून, 2019) 6 लेन+ 2 सर्विस रोड
फेज़ 4 – हापुड़ से मेरठ, 31.77 किमी. ( टारगेट – जमीन अधिग्रहण पूरा होने के 18 महीने बाद) 6 लेन
आपको बता दें कि एक्सप्रेस-वे का दिल्ली वाला हिस्सा रिकॉर्ड 18 महीने में पूरा किया गया है. इसमें कुल 5 फ्लाईओवर, 4 अंडरपास, 1 फुटओवर ब्रिज है.

रविवार सुबह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के पहले फेज़ के उद्घाटन के बाद पीएम ने यहां रोड शो भी किया. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सबसे हाईटेक ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे को देश को समर्पित करेंगे. 11,000 हज़ार करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुआ ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे कुल 135 किलोमीटर का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *