लोग 10 मिनट की मुलाकात में शादी फिक्स कर देते है

लोग 10 मिनट की मुलाकात में शादी फिक्स कर देते है

Log 10 Mintuns Ki Mulakaat Me Shaadi Fixed Ker Dete Hai.

लोग 10 मिनट की मुलाकात में शादी फिक्स कर देते है

 

ऐसे समय में जी रहे है जहाँ लोग 10 मिनट की मुलाकात में शादी फिक्स कर देते है
लेकिन 1-1 घंटे के पांच इंटरव्यू लेने के बाद भी नौकरी नहीं देते।

——-

इंसान को बोलना सीखने में दो साल लग जाते हैं
लेकिन… क्या बोलना है, यह सीखने में पूरी ज़िन्दगी निकल जाती है..

——-

एक जैसी ही दिखती थी माचिस की वो तीलियाँ.
“कुछ ने दिये जलाये”…”और कुछ ने घर.”.

——-

यादें भी कितनी अजीब होती हैं न जिन पल मे हम
रोये थे उन्हे याद करके हमे हँसी आती और जिन
पलों मे हम हँसे थे उन्हे याद करके हमे रोना आता है।…

——-

हुनर तो सब में होता है…
फर्क बस इतना होता है…
किसी का छिप जाता है…
तो किसी का छप जाता है…!!

——-

“अकड़”
.
इस शब्द को ध्यान से देखो तो
इसमें कोई ‘मात्रा’ नहीं है…..
लेकिन
ये अलग अलग ‘मात्रा’ में हर इंसान में मौजूद है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *