This Is Your Brain on My Life my Shayari Hindi

This Is Your Brain on My Life my Shayari Hindi

My Life my Shayari Hindi | बेटी Quotes This Is Your Brain on My Life my Shayari Hindi

My Life my Shayari Hindi

बेटी जब शादी के मंडप से…
ससुराल जाती है तब …..
पराई नहीं लगती.
मगर ……


जब वह मायके आकर हाथ मुंह धोने के बाद सामने टंगे टाविल के बजाय अपने बैग से छोटे से रुमाल से मुंह पौंछती है , तब वह पराई लगती है ||


जब वह रसोई के दरवाजे पर अपरिचित सी खड़ी हो जाती है , तब वह पराई लगती है ||


जब वह पानी के गिलास के लिए इधर उधर आँखें घुमाती है , तब वह पराई लगती है ||


जब वह पूछती है वाशिंग मशीन चलाऊँ क्या ?? तब वह पराई लगती है ||


जब टेबल पर खाना लगने
के बाद भी बर्तन खोल कर नहीं
देखती तब वह पराई लगती है ||


जब पैसे गिनते समय अपनी नजरें
चुराती है तब वह पराई लगती है.
जब बात बात पर अनावश्यक ठहाके
लगाकर खुश होने का नाटक करती है
तब वह पराई लगती है…..


और लौटते समय ‘अब कब आएगी’ के
जवाब में ‘देखो कब आना होता है’
यह जवाब देती है, तब हमेशा के लिए
पराई हो गई ऐसे लगती है ||


लेकिन गाड़ी में बैठने के बाद
जब वह चुपके से अपनी आखें छुपा
के सुखाने की कोशिश करती ।
तो वह परायापन एक झटके में बह
जाता तब वो पराई सी लगती है ||

Read More also like :  Whatsapp Challenge Questions With Answer

Recent Search Terms:
  • beti shayari

One thought on “This Is Your Brain on My Life my Shayari Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *