Philosophical System Was Founded By Vallabhacharya?

Philosophical System Was Founded By Vallabhacharya?

history of the sect of maharajas of vallabhacharya in western india – vallabhacharya history in hindi – Philosophical System Was Founded By Vallabhacharya?

Vallabhacharya propounded the Sudhadvaita Vedanta (Pure non- dualism) and a philosophy called Pustimarga (The path of Grace). He believed that Brahman is identified with Sri Krishna, characterised by Sat (Being), Cit (Consciousness) and Ananda (Bliss)

philosophical system was founded by Vallabhacharya

वल्लभाचार्य (जन्म: संवत 1530- मृत्यु: संवत 1588 भक्तिकालीन सगुणधारा की कृष्णभक्ति शाखा के आधार स्तंभ एवं पुष्टिमार्ग के प्रणेता माने जाते हैं। जिनका प्रादुर्भाव ईः सन् 1479, वैशाख कृष्ण एकादशी को दक्षिण भारत के कांकरवाड ग्रामवासी तैलंग ब्राह्मण श्री लक्ष्मणभट्ट जी की पत्नी इलम्मागारू के गर्भ से काशी के समीप हुआ। उन्हें ‘वैश्वानरावतार अग्नि का अवतार’ कहा गया है। वे वेद शास्त्र में पारंगत थे। श्री रुद्रसंप्रदाय के श्री विल्वमंगलाचार्य जी द्वारा इन्हें ‘अष्टादशाक्षर गोपाल मन्त्र’ की दीक्षा दी गई। त्रिदंड सन्न्यास की दीक्षा स्वामी नारायणेन्द्र तीर्थ से प्राप्त हुई। विवाह पंडित श्रीदेव भट्ट जी की कन्या महालक्ष्मी से हुआ, और यथासमय दो पुत्र हुए- श्री गोपीनाथ व विट्ठलनाथ।

पूरा नाम: वल्लभाचार्य

जन्म: संवत 1530

मृत्यु: संवत 1588

संतान: दो पुत्र- गोपीनाथ व विट्ठलनाथ

कर्म भूमि: ब्रज

प्रसिद्धि: पुष्टिमार्ग के प्रणेता

विशेष योगदान: शुद्धाद्वैत के संदर्भ में वल्लभाचार्य द्वारा भागवत पर रचित सुबोधिनी टीका का महत्त्व बहुत अधिक है।

नागरिकता: भारतीय

संबंधित लेख: अद्वैतवाद, वल्लभ सम्प्रदाय, ब्रह्मसूत्र

Read more : GOOD FRIDAY FACTS

One thought on “Philosophical System Was Founded By Vallabhacharya?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *