पूर्णिमा व्रत – Purnima Vrat Benefits 2020

पूर्णिमा व्रत – Purnima Vrat Benefits 2020

Some WhatsApp Share Friends For Purnima Vrat Benefits 2020 to test your friend’s पूर्णिमा व्रत 2020 knowledge

Purnima Vrat Benefits 2020

पौर्णमासी’ शब्द यों बना है– ‘पूर्णों माः’ (‘मास’ का अर्थ है-चन्द्र) पूर्णमाः, तत्र भवा पौर्णमासी (तिथिः) या ‘पूर्णो मासों वर्तते अस्यामिति पौर्णमासी। भारत में धार्मिक व्रतों का सर्वव्यापी प्रचार रहा है। यह हिन्दू धर्म ग्रंथों में उल्लिखित हिन्दू धर्म का एक व्रत संस्कार है।

अनुयायी : हिंदू

उद्देश्य : उपवास, इन्द्रिय निग्रह और प्राणायाम करने से सभी पापों से मुक्ति हो जाती है।

तिथि :प्रत्येक मास की पूर्णिमा

धार्मिक मान्यता : कार्तिक पूर्णिमा पर नारी को घर की दीवार पर उमा एवं शिव का चित्र बनाना चाहिए; इन दोनों की पूजा गंध आदि से की जानी चाहिए और विशेषतः ईख या ईख के रख से बनी वस्तुओं का अर्पण करना चाहिए; बिना तिल के तेल के प्रयोग के नक्त विधि से भोजन करना चाहिए।

Read More : WORLD MENTAL HEALTH DAY 2020

One thought on “पूर्णिमा व्रत – Purnima Vrat Benefits 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *