Zindagi Shayari Sad | Mirza Ghalib Shayari in Hindi

Zindagi Shayari Sad | Mirza Ghalib Shayari in Hindi

Zindagi Shayari Sad | Mirza Ghalib Shayari in Hindi

Zindagi Shayari Sad
Zindagi Shayari Sad

हम को मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन,
हम को मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन,

दिल को खुश रखने को ‘ग़ालिब’ ये ख्याल अच्छा है.

 


इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ को निकम्मा कर दिया,
इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ को निकम्मा कर दिया,

वरना हम भी आदमी थे काम के.

 


उम्र भर ग़ालिब यही भूल करता रहा,
उम्र भर ग़ालिब यही भूल करता रहा,

धुल चेहरे पे थी और आईना साफ़ करता रहा.


इस सादगी पे कौन न मर जाए ऐ खुदा,
इस सादगी पे कौन न मर जाए ऐ खुदा,

लड़ते है और हाथ में तलवार भी नहीं.


हज़ारो खुवाशिया ऐसी की हर खुवाहिश पे दम निकले,
हज़ारो खुवाशिया ऐसी की हर खुवाहिश पे दम निकले,

बहुत निकले मिरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले.


उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रोंनक,
उन के देखे से जो आ जाती है मुँह पर रोंनक,

वो समझाते है की बीमार का हाल अच्छा है.


दिल-ए-नंदा तुझे हुआ क्या है,
दिल-ए-नंदा तुझे हुआ क्या है,

आख़िर इस दर्द की दवा क्या है.


  • 1 line status for whatsapp in Hindi

कहते है जीते है उम्मीद पे लोग,
कहते है जीते है उम्मीद पे लोग,

हम को जीने की भी उम्मीद नहीं.


  • 2 line status in Hindi attitude

आईना देख अपना सा मुँह ले के रह गए,
आईना देख अपना सा मुँह ले के रह गए,

साहब को दिल न देने पे कितना गुरुर था.


  • 1 line Shayari in Hindi

इश्क़ पर जोर नहीं है ये वो आतिश ‘ग़ालिब’,
इश्क़ पर जोर नहीं है ये वो आतिश ‘ग़ालिब’,

की लगाए न लगे और बुझाए न बने.

 


  • True lines about life in Hindi

जिंदगी में तो वो महफ़िल से उठा देते थे,
जिंदगी में तो वो महफ़िल से उठा देते थे,

देखूँ अब मर गए पर कौन उठाया है मुझे.

 


  • Two line Shayari in Hindi on life

‘ग़ालिब’ बुरा न मान जो वाइंज बुरा कहे,
‘ग़ालिब’ बुरा न मान जो वाइंज बुरा कहे,

ऐसा भी कोई है की सब अच्छा कहें जिसे.

Read More also like : Gujarati riddles with answer

Who is Mirza Ghalib?
Answer : Mirza Ghalib wiki

One thought on “Zindagi Shayari Sad | Mirza Ghalib Shayari in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *